श्रीसंत पर दिल्ली पुलिस के अलग-अलग बयान

  • 18 मई 2013

आईपीएल मैचों में स्पॉट फ़िक्सिंग के मामले में फंसे राजस्थान रॉयल्स के श्रीसंत और दो अन्य खिलाड़ी अंकित चव्हाण और अजीत चंडिला ने कथित तौर पर अपना अपराध स्वीकार किया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक दिल्ली पुलिस का कहना है कि हिरासत में पूछताछ के दैरान जिन अन्य खिलाड़ियों के नाम सामने आए हैं, उनकी भूमिका के बारे में भी जांच की जा सकती है.

पीटीआई ने दिल्ली पुलिस के आयुक्त नीरज कुमार के हवाले से कहा है कि भारतीय तेज गेंदबाज श्रीसंत एवं उसके दोस्त को जब गिरफ्तार किया गया तो उस समय वे लड़कियों के साथ थे.

तस्वीरों में श्रीसंत

जब पुलिस आयुक्त नीरज कुमार से ये सवाल पूछा गया कि क्या तीनों क्रिकेटरों ने स्पॉट फ़िक्सिंग में अपराध कबूल किया है, तो इसके जवाब में पुलिस आयुक्त ने कहा, "हां."

लेकिन साथ ही उन्होंने ये भी कहा, "उनके अभियुक्तों के पास इसके अलावा कोई और चारा था ही नहीं."

पुलिस आयुक्त ने ये भी दावा किया कि इन तीनों के खिलाफ ठोस सबूत हैं और वो आश्वस्त हैं कि उन्हें दोषी ठहराया जाएगा.

अलग-अलग बयान

एक निजी टीवी चैनल एनडीटीवी के एक कार्यक्रम में स्पेशल सेल के एसपी एस एन श्रीवास्तव ने भी एक सवाल के जवाब में कहा कि तीनों खिलाड़ियों ने सट्टेबाज़ी की बात स्वीकार की है.

हांलाकि जब बीबीसी ने दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता राजन भगत से इस खबर की पुष्टि करनी चाही तो उन्होंने इस तरह की स्वीकारोक्ति से साफ़ इनकार किया.

इस बीच दिल्ली पुलिस के ज़रिये गिरफ्तार एक पुर्व कश्मीरी चरमपंथी लियाक़त अली को अदालत ने किसी तरह के सबूत मौजूद न होने की बिना पर छोड़ दिया है.

दिल्ली पुलिस का कहना था कि लियाक़त अली राजधानी में हमले की योजना बना रहे थे जबकि भारतीय प्रशासित कश्मीर की पुलिस ने कहा था कि वो पुनर्वास की योजना के तहत वापस कश्मीर जा रहे थे.

साजिश के तहत

इधर तीनों क्रिकेटरों के वकीलों ने कहा है कि उनके मुवक्किल पूरी तरह से निर्दोष हैं और उन्हें साजिश के तहत गलत रूप से फंसाया गया है.

श्रीसंत के वकील दीपक प्रकाश ने कहा, ‘‘श्रीसंत को गलत रूप से या भूलवश गिरफ्तार किया गया. दिल्ली पुलिस को गलत सूचना मिली या उन्होंने भूलवश उसे गिरफ्तार कर लिया गया.’’

उधर, तमिलनाडु के चेन्नई में छह सट्टेबाजों को गिरफ्तार कर आईपीएल मैचों से जुड़े एक अन्य रैकेट के भंडाफोड़ का दावा किया है. साथ ही उसने 14 लाख रुपये भी बरामद किए हैं.

अपराध शाखा सीआईडी के पुलिस अधीक्षक पेरूमल एवं राजेश्वरी ने चेन्नई में संवाददाताओं से कहा कि संदिग्ध मुख्य षड्यंत्रकर्ता दिल्ली से काम कर रहा है. गिरफ्तारियों के बाद चेन्नई में 13 स्थलों पर जांच की गई.

श्रीसंत एवं दो अन्य क्रिकेटरों को दिल्ली पुलिस ने एक दिन पहले गिरफ्तार किया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार