चेन्नई टेस्ट: धोनी का दोहरा शतक, भारत को बढ़त

  • 24 फरवरी 2013
धोनी
Image caption कोहली के बाद धोनी के शतक ने भारत को बेहतर स्थिति में पहुँचा दिया है

चेन्नई टेस्ट मैच के तीसरे दिन कप्तान धोनी के शानदार दोहरे शतक और विराट कोहली के शतक की मदद से भारत मज़बूत स्थिति में पंहुच गया है.

तीसरे दिन का खेल खत्म होने पर भारत ने आठ विकेट पर 515 रन बना लिए थे और ऑस्ट्रेलिया के 380 के स्कोर को पीछे छोड़ते हुए 135 रनों की बढ़त ले ली है.

धोनी ने कप्तानी पारी खेलते हुए नाबाद 206 रन बनाए हैं. उन्होंने अपनी पारी में अभी तक 22 चौके और पांच छक्के लगाए हैं.

उन्होंने आठवें विकेट के लिए भुवनेश्वर कुमार के साथ रिकॉर्ड साझेदारी की.

धोनी का शतक 119 गेंदों पर 12 चौकों और एक छक्के की मदद से आया. टेस्ट मैचों में धोनी का ये छठा शतक है.

धोनी के शतक के ठीक पहले रवींद्र जडेजा 16 रन बनाकर और आर अश्विन तीन रन बनाकर आउट हुए.

भोजन अवकाश पर जाने से पहले तक भारत ने सचिन के 81 और कोहली के नाबाद 83 रन की बदौलत चार विकेट के नुक़सान पर 263 रन बना लिए थे.

कोहली का शतक

भोजन अवकाश के बाद कोहली ने कुछ बेहतरीन शॉट खेले और जल्द ही अपना शतक पूरा कर लिया. उन्होंने 199 गेंदों का सामना करते हुए 14 चौके और एक छक्के की मदद से 102 रन बनाए.

टेस्ट क्रिकेट में कोहली का ये चौथा शतक है और ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ उनका ये दूसरा शतक है.

कोहली का साथ दे रहें हैं कप्तान धोनी ने भी अपना अर्धशतक पूरा किया.

इससे पहले रविवार की सुबह भारत ने अपने पिछले दिन के स्कोर तीन विकेट पर 182 रन से आगे खेलना शुरू किया.

उस समय सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली अर्धशतक बनाकर जमे हुए थे.

एक समय में जब ऐसा लग रहा था कि सचिन अपने शतक की ओर बढ़ रहें हैं तभी वो ल्योन की गेंद पर 81 रन के निजी स्कोर पर बोल्ड हो गए.

उसके बाद धोनी मैदान में उतरे. धोनी और कोहली ने संभलकर खेला और लंच तक मज़ीद कोई नुक़सान सहे 67 रन की साझेदारी की.

दूसरे दिन का खेल

दूसरे दिन भारत ने सचिन और विराट कोहली के अर्ध शतकों की बदौलत तीन विकेट खोकर 182 रन बना लिए थे. दूसरे दिन का खेल शुरु होने के बाद अपनी पहली पारी में ऑस्ट्रेलियाई टीम 380 रन पर ऑल आउट हो गई थी.

भारतीय पारी की शुरुआत मुरली विजय और वीरेंदर सहवाग ने की.लेकिन वे भारत को मज़बूत आधार दिलाने में नाकाम रहे.चौथे ही ओवर में पेटिसन ने मुरली विजय को पवेलियन वापस भेज दिया.मुरली विजय 10 रन का ही योगदान दे सके. वीरेंद्र सहवाग फिर एक बार अपना जादू चलाने में नाकाम रहे. वो 11 गेंदों पर सिर्फ दो रन बना कर आउट हो गए.

छठे ओवर में भारत का स्कोर था दो विकेट पर 12 रन. ऐसे हालात में चेतश्वर पुजारा और सचिन ने पारी को संभाला. पुजारा ने छह चौक्कों की मदद से 44 रन बनाए और पेटिंसन का शिकार हुए.

हाल ही में वनडे क्रिकेट को अलविदा कहने वाले सचिन ने सधी हुई बल्लेबाजी की. दिन का खेल खत्म होने पर वो 128 गेंदों पर 71 रन की पारी खेल कर क्रीज पर जमे हुए थे. विराट कोहली भी 50 रनों की पारी के साथ उनका अच्छा साथ निभा रहे हैं.

शनिवार को गिरे भारत के तीनों विकेट पेटिंसन के खाते में गए.

ऑस्ट्रेलियाई पारी

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने शनिवार की सुबह सात विकेट पर 316 रन से आगे खेलना शुरू किया. लेकिन ऑस्ट्रेलिया की टीम इस स्कोर को बहुत ज़्यादा आगे नहीं बढ़ा पाई. ऑस्ट्रेलियाई टीम लंच से कुछ देर पहले पहली पारी में 380 रन बनाकर ऑल आउट हो गई.

ऑस्ट्रेलिया की ओर से कप्तान माइकल क्लार्क ने सर्वाधिक 130 रन बनाए वहीं नए नवेले हेनरिकेज़ ने 68 रन बनाए.

भारत की ओर से आश्विन ने शानदार गेंदबाज़ी करते हुए 103 रन देकर सात विकेट लिए. रवींद्र जडेजा को दो और हरभजन सिंह को एक विकेट मिला.

संबंधित समाचार