आईफ़ोन, आईपैड के बाद अब ऐपल की आईवॉच?

  • 23 फरवरी 2013
ऐपल का आईवॉच
Image caption स्मार्ट वॉच की तैयारी कर रहा है ऐपल

अमरीकी पेटेंट ऑफ़िस से मिली जानकारी के आधार पर कहा जा सकता है कि ऐपल कंपनी अब आईवॉच यानी एक स्मार्ट घड़ी बनाने की तैयारी कर रही है.

पेटेंट ऑफ़िस ने सिर्फ़ इतना बताया कि ऐपल कंपनी ने गुरूवार को अपनी नई तकनीक के लिए पेटेंट का आवेदन किया है, लेकिन इसके लिए जमा किए गए दस्तावेज़ों से पता चलता है कि ऐपल इस पर 2011 के अगस्त महीने से ही काम कर रही थी.

यानी अब ये कहा जा सकता है कि आईफ़ोन और आईपैड के बाद ऐपल अब आईवॉच की तैयारी कर रहा है.

हालाकि पेटेंट करा लेने के बाद भी कई बार ऐसा होता है कि कंपनी बाज़ार में अपना उत्पाद नहीं उतार पाती है.

लेकिन ब्लूमबर्ग, वॉल स्ट्रीट जर्नल और न्यूयॉर्क टाइम्स जैसे सभी मीडिया संस्थानों सभी ने इसी महीने ये ख़बर छापी है कि सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की है कि ऐपल हाथ की घड़ी जैसी कोई चीज़ जल्द ही बाज़ार में उतारने की तैयारी कर रहा है.

लेकिन जब बीबीसी ने ऐपल से संपर्क किया तो कंपनी ने इस बारे में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया.

कंगन या स्मार्टवॉच?

जानकार बताते हैं कि ऐपल जिस तरह के उपकरण की तैयारी कर रहा है वो चूड़ी या कंगन की तरह हाथ की कलाई में पहनने वाली कोई चीज़ होगी.

इस तरह की चीज़ 80 के दशक में किशोरों के बीच ख़ूब लोकप्रिय थी लेकिन बाद में लोग उसे कम पसंद करने लगे क्योंकि कुछ समय के बाद उस उपकरण की आकृति बिगड़ जाती थी.

Image caption मार्टियन कंपनी आवाज़ से संचालित घड़ी जल्द ही बाज़ार में उतारने वाली है.

इसके अलावा कुछ लोगों ने उस उपकरण से हाथों को नुक़सान पहुंचने की भी शिकायत की थी.

लेकिन ऐपल उसी उपकरण में तकनीकी तौर पर और सुधार करके नए तरीक़े से पेश करने की तैयारी कर रहा है.

हाथ की कलाई में बंधे इस घड़ी या उपकरण का संपर्क फ़ोन, टैबलेट या लैपटॉप से होगा और इस घड़ी के ज़रिए उन उपकरणों से काम लिया जा सकता है.

एबीआई रिसर्च के अनुसार फ़ॉसिल, पेबल और सोनी जैसी कंपनियां पहले से ही स्मार्ट वॉच बेच रहीं हैं और सैमसंग तथा मार्टियन कंपनियां इस तरह के उपकरण बाज़ार में लाने की तैयारी कर रही हैं.

इस क्षेत्र में फिलहाल नाइक कंपनी के फ़्यूलबैंड और गार्मिन फ़ोररनर का वर्चस्व है जिनका 60 फ़ीसदी बाज़ार पर क़ब्ज़ा है.

लेकिन इन उपकरणों में केवल कुछ ही ख़ासियत हैं.

विशेषज्ञों के अनुसार स्मार्टवॉच के बारे में तो कई वर्षों से चर्चा होती रही हैं लेकिन लोगों की कल्पना को साकार करने संबंधी तकनीक की खोज हाल ही में हुई है.

संबंधित समाचार