पीएस4: सोनी का ये कैसा 'खेल'

  • 23 फरवरी 2013
Image caption न्यूयॉर्क में प्ले स्टेशन 4 के लॉंच का ऐलान किया गया

आखिर सोनी के प्ले स्टेशन 4 का ऐलान हो ही गया. इस घोषणा को लेकर इंटरनेट पर कई तरह की राय मिल रही है. कुछ लोग इसे कंपनी के लिए एक किस्मत बदलने वाले मौके की तरह देख रहे हैं तो कुछ इसे बेकार की कसरत मान रहे हैं.

कई लोग तो हतप्रभ हैं कि पीएस 4 के इस लॉंच में से गेमिंग कंसोल ही गायब है. हालांकि कुछ लोगों में उत्सुकता है कि कंपनी गेमिंग में क्या नया ईजाद करती है.

न्यूयॉर्क में हुई इस घोषणा के चंद घंटे बाद इंटरनेट पर आई प्रतिक्रियाओं में से कुछ यहाँ पढ़िए.

द वर्ज :

सोनी ने पीएस 4 की कीमत या बाज़ार में आने की कोई निश्चित तारीख़ घोषित नहीं की है. इससे कंपनी को माइक्रोसॉफ़्ट के गेमिंग से जुड़ी घोषणा के बाद प्रतिक्रिया देने का मौका मिल गया है.

गिज़मोडो :

घंटों लंबी भूमिका और प्रदर्शन के बाद ये साफ़ हो गया था कि हमें प्ले स्टेशन 4 नहीं दिखाया जा रहा. या तो सोनी मुख्य लड़ाई के लिए तैयार नहीं है या उसे लगता है कि ये जितना मुश्किल से मिलेगा इसके लिए उतनी ही उत्सुकता बढ़ेगी.

वायर्ड :

सोनी ने सबसे सस्ता काम किया, वो है- बात और सिर्फ़ बात की. एक दार्शनिक की तरह बहुत सारे लोकप्रिय गेम्स के नाम गिनाए लेकिन कोई ठोस जानकारी नहीं दी. और आज के वक्त में यही सबसे ज़रूरी है.

कंप्यूटर एंड वीडियो गेम्स :

सोनी दरअसल एक ऐसी दुनिया में अपनी जगह बनाने की कोशिश कर रहा है जिसे ऐप्पल पहले ही उथल-पुथल कर चुका है. पीएस 4 को पश्चिम से बाहर विकसित किया जा रहा लेकिन जापान में नहीं और ये कोई छोटा कदम नहीं है. अचरज की बात तो ये है कि इस पर काम शुरू हुए पांच साल बीत चुके हैं.

स्पॉंग :

सबसे रोमांचक तो इसका शेयर बटन है. हमें पता चला है कि पीएस 4 चुपके और सफ़ाई से हमारे आखिरी 15 मिनट के खेल को मॉनीटर और बफ़र करेगा. ये उन सबसे लिए वरदान होगा जो ये सोचते हैं कि यू-ट्यूब पर पहले ही मूर्खतापूर्ण वीडियो कम हैं.

टेकक्रंच :

इस उपकरण को लोकप्रिय बनाने के लिए एक चर्चा की ज़रूरत थी, जिसे सोनी चूक गया. इसे (और बतौर संभावित ग्राहक हमें भी) ग्राफ़िक्स, तकनीकी और लुभावने प्रदर्शन से कुछ ज़्यादा चाहिए थे. ये सब तरकीबें पहले काम करती रही होंगी लेकिन एंड्रॉएड और आई-ओएस जैसे मोबाइल प्लेटफॉर्म की बाढ़ को रोकने में ये नाकामयाब रही हैं.

स्टफ :

पीएस 4 ‘निनटेंडो वाई यू’ का एक मज़बूत जवाब नज़र आता है. सोशल गेमिंग फ़ीचर्स जैसे हथियारों के साथ इसके मंत्रमुग्ध करने के साथ ही चिढ़ा डालने की भी पूरी संभावना है. माइक्रोसॉफ्ट अब गेंद तुम्हारे पाले में है.

सीनेट :

पीएस 4 वायदे बड़े करता है और सपने बड़े दिखाता है लेकिन अभी कुछ साफ़ नहीं है. सवाल ये है कि क्या ऐसी ठोस वजह है जिससे कोई इसे ख़रीदना चाहे.

न्यूयॉर्क टाइम्स :

नई ख़ासियतें ये तथ्य नहीं छुपा पातीं कि प्ले स्टेशन 4 अब भी एक कंसोल है यानि कि कॉम्पेक्ट डिस्क पर गेम खेलने का तरीका. कभी ये यकीकन अच्छा लगता था लेकिन ये तब की बात थी जब सेलफ़ोन स्मार्ट नहीं हुए थे.

ट्विटर

तो सोनी, तुमने वीडियो गेम क्म्युनिटि को पीएस 4 का ऐलान करने के लिए इकट्ठा कर लिया और दिखाया सिर्फ़ कंट्रोलर ?!? @ रीकमोटो

क्या सोनी प्रदर्शन के लिए किसी महिला की नियुक्ति नहीं करता? इसमें से नारी जाति पूरी तरह गायब थी ! @करोटेविथाज़

मैं सचमुच चाहता हूं कि प्लेस्टेशन बढ़िया करे... लेकिन क्या सिर्फ़ मुझे ऐसा लग रहा है कि रिलीज़ के लिए दस महीने एक लंबा समय है? @ जेडी लूसिया

पीएस4.... कंट्रोलर और क्लाउड गेमिंग ने मुझे पहले ही जीत लिया है. माइक्रोसॉफ़्ट अब तुम्हें मेरे लिए एक होलोग्राफ़िक 4डी Xबॉक्स लाना होगा. @ शानेकोरकोरैन

पीएस 4 सचमुच इंजीनियरिंग का कमाल है. इसे X86 आर्किटेक्चर पर बनाया गया है, बिल्ट इन 8 जीबी के साथ, शेयरिंग और एक नया कंट्रोल. ये अजेय है. @ जॉर्डनआरक्रुक

मैं इससे बहुत प्रभावित नहीं हुआ, कोई ठोस राय बनाने के लिए जानकारियां बहुत कम हैं. वैसे मैग्नावॉक्स पॉंग के समय से सारे गेमिंग कंसोल मेरे पास हैं. @ गार्टेनबर्ग

मैं सचमुच ये देखना चाहता हूं कि नया Xबॉक्स क्या लेकर आता है. मतलब जैसा मैंने कुछ घंटे पहले किया उससे कुछ ज़्यादा. @ बारौड

प्ले स्टेशन 4 लगता तो मज़ेदार है, नया कंट्रोलर और बहुत तेज खेलने की क्षमता. इसके लॉंच का इंतज़ार है. @ फिडू89

कोई बॉक्स नहीं, कोई कीमत नहीं, आने की कोई तारीख़ नहीं. बहुत सारे ऐसे खेल पुराने खेलों का उच्च रेज़ोल्यूशन वाला संस्करण लग रहे हैं. हम्म्म और ई.ए. कहां है ? @ अर्तनबीडोयले

फ़ेसबुक

पीएस3 के बाद सोनी सबसे बड़ी प्रेस कॉंफ्रेंस आयोजित करता है और दिखाता है सिर्फ़ कंट्रोलर, वो भी जो सदियों पहले नेट पर लीक हो चुका था. इसका मतलब क्या है सोनी? उस पर मज़ाक ये कि पीएस3 गेम्स इसके अनुकूल नहीं हैं. संजय सिसोदिया

मुझे सचमुच आश्चर्य है कि वो पीएस4 लाए. मुझे लगा था कि कुछ विवाद था कि जापानियों में नंबर 4 का मतलब मौत या ऐसा ही कुछ होता है.... ??? डेविड एटकिन्स

मुझे समझ नहीं आ रहा कि इतने लोग शिकायत क्यों कर रहे हैं कि सोनी ने पीएस4 नहीं दिखाया. कूटनीति के लिहाज से उन्होंने बिल्कुल सही काम किया है. और आप क्या सोचते हैं कि माइक्रोसॉफ़्ट को ये प्रदर्शन देखने से बाहर रखा जा सकता था ? अगर उन्होंने कंसोल अभी दिखा दिया होता तो माइक्रोसॉफ़्ट को अपना उत्पाद बेहतर बनाने का मौका मिल जाता. लीसा फ्रिया

भविष्य ? ये दरअसल एक पर्सनल कंप्यूटर है शेयर बटन के साथ. मुझे पीएस4 नहीं चाहिए. एलन चैंबर्स

और डेनियल बेकर कहते हैं कि अगर आपको लगता है कि ये ‘ओएमजी’ नहीं है तो आपने इसे ठीक से देखा नहीं.

संबंधित समाचार