प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

अफ़ग़ान हिन्दुओं और सिखों का दर्द

30 अगस्त 2013 अतिम अपडेट 19:15 IST पर

अफगानिस्तान के हिंदू और सिख, ऐसे लोग जिनकी शायद ही कभी चर्चा होती है.

इन लोगों के लिए अपने बच्चों को पढ़ा पाना या धार्मिक रीति से अपने मृतकों का अंतिम संस्कार तक कर पाना दूभर है.

ऐसे ही मुद्दों को उठाने के लिए इन लोगों ने अफ़ग़ान संसद में एक सीट रिज़र्व करने की माँग की थी.

जब ये मांग पूरी नहीं हुई तो पूरे समुदाय ने एक साथ अफगानिस्तान छोड़ने की बात कही थी. अब उनकी माँग मान ली गई है.

इन भुला दिए गए लोगों की ज़िंदगी पर नज़र डालती, काबुल से सईद अनवर की स्पेशल रिपोर्ट.