टूटते तारों की एक रात

17 अगस्त 2013 अतिम अपडेट 09:40 IST पर

ये तस्वीरें बीबीसी पाठकों ने भेजी हैं. हफ्ते की शुरुआत में आसमान में कुछ हलचल हुई थी, कुछ पुच्छल तारे धरती की ओर बढ़ रहे थे. देखिए तो सही.
बीबीसी पाठकों की भेजी उल्का पात की तस्वीरें
12 अगस्त को बीते सोमवार की रात आसमान पर नजर रखने वाले लोगों के लिए एक अच्छा मौका था. अंतरिक्ष से आए पुच्छल तारे पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश करते ही जल पड़े और आसमान में रोशनी की लकीर खिंच गई. इंग्लैंड में ये तस्वीर पॉल विलियम्स ने अपनी खिड़की से इस नजारे को देखा और उसे अपने कैमरे की लेंस में कैद करने से खुद को रोक न पाए.
बीबीसी पाठकों की भेजी उल्का पात की तस्वीरें
लीसा हार्डिंग को इस एक तस्वीर को बनाने के लिए उल्कापात की 50 तस्वीरें लेनी पड़ी थी. इंग्लैंड में उस रात वे पूरे दो घंटे तक इस काम में लगी रहीं.
बीबीसी पाठकों की भेजी उल्का पात की तस्वीरें
जैनी वॉल्श की इस तस्वीर में उल्कापात के साथ सात तारों के समूह ‘सप्तर्षि’ देखा जा सकता है.
बीबीसी पाठकों की भेजी उल्का पात की तस्वीरें
ऐसी तकरीबन 60 से 100 झलकियाँ दिखीं. स्कॉटलैंड में ऐंड्र्यू ट्रेल भी उनमें से एक देख पाए.
बीबीसी पाठकों की भेजी उल्का पात की तस्वीरें
मार्कस मैथ्यूज़ ने रात की फोटोग्राफी में पहली बार हाथ आजमाने की कोशिश की. ये तस्वीर उन्होंने वेल्स में ली.
बीबीसी पाठकों की भेजी उल्का पात की तस्वीरें
इंग्लैंड के नेवार्क में ऐंड्र्यू हॉउटन ने अपने बगीचे में एक कैमरा सेट कर दिया जो रात भर तस्वीरें खींचता रहा. यह तस्वीर ब्रिटेन के स्थानीय समय के अनुसार रात के 11 बजे ली गई थी.
बीबीसी पाठकों की भेजी उल्का पात की तस्वीरें
इंग्लैंड के हॉर्टन बेकर परिवार की तीन पीढ़ियाँ अपने गार्डन में रात के वक्त इस खगोलीय घटना का नजारा देख रहे थे. डॉन हॉर्टन बेकर कहते हैं, “हम रात के एक बजे तक जागते रहे और आसमान में दर्जनों तारे जलते हुए साफ साफ दिख रहे थे. हमें हमारी कोशिशों का नतीजा मिल गया.”
बीबीसी पाठकों की भेजी उल्का पात की तस्वीरें
इस तस्वीर के लिए जेम्स बिर्चल ने दो घंटों तक आसमान में हो रहे उल्कापात की तस्वीरें लीं और उन सबको अपनी तस्वीर के साथ मिलाकर इसे पेश किया.
बीबीसी पाठकों की भेजी उल्का पात की तस्वीरें
इस तस्वीर के लिए लॉरेंस हैरिस ने इंग्लैंड में अपने गार्डन में कैमरा लगा रखा था.