प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

गांधीः पाकिस्तान में बिताऊंगा अपनी बाकी ज़िंदगी

15 अगस्त 1947 को भारत की आज़ादी से पहले क्या हो रहा था? बीबीसी हिंदी के लिए 1997 में मधुकर उपाध्याय ने 'पचास दिन पहले, पचास साल बाद' नाम से रिपोर्टें बनाई थीं जिसमें सिलसिलेवार ढंग से आज़ादी के पहले की घटनाओं का ज़िक्र था.

इस सीरीज में जानिए छह अगस्त 1947 की घटनाओं के बारे मे.

लाहौर रेलवे स्टेशन पर बहुत से कांग्रेस कार्यकर्ता महात्मा गांधी को विदा करने आए थे. कलकत्ता मेल के आने में अभी थोड़ा समय बाकी था. महात्मा गांधी कार्यकर्ताओं से बात कर रहे थे.