'छाते की क्या ज़रूरत है?'