वियतनाम में मार्क्सवाद की पढ़ाई मुफ़्त में

  • 18 अगस्त 2013

वियतनाम के विश्वविद्यालयों में मार्क्सवाद, लेनिनवाद और हो चि मिन्ह की विचारधाराओं को पढ़ने वाले छात्रों को कोई शिक्षण शुल्क नहीं देना होगा.

वियतनामी छात्रों में इन विचाराधाराओं के प्रति कम होती दिलचस्पी को देखते हुए ये फ़ैसला सरकारी स्तर पर लिया गया है.

शिक्षण शुल्क माफ़ किए जाने संबंधी आदेश पर वियतनाम के प्रधानमंत्री नेग्यून तान डूंग ने हस्ताक्षर किए हैं.

इतना ही नहीं मेडिकल साइंस में टीबी, कुष्ठ रोग, मानसिक बीमारी और शल्य चिकित्सा विज्ञान की पढ़ाई कर रहे छात्रों को भी इस छूट का लाभ मिलेगा.

वहीं परंपरागत वियतनामी ड्रामा और ओपेरा के छात्रों की फ़ीस में भी कमी की जाएगी.

हाल के सालों में, वियतनाम के अंदर कम्यूनिस्ट विज्ञान के छात्रों में भारी कमी देखने को मिली है, हालांकि वियतनाम मार्क्सवादी विरासत को लेकर गर्व महसूस करता रहा है.

छात्रों की दिलचस्पी घटी

हो चि मिन्ह सिटी के सोशल एंड ह्मूमन साइंस यूनिवर्सिटी में नामांकन और प्रशिक्षण के प्रमुख पाम तान हा ने स्थानीय मीडिया से कहा कि यूनिवर्सिटी वैसे नए छात्रों को आकर्षित करने की चुनौती का सामना कर रही है जो दर्शनशास्त्र, मार्क्सवादी-लेनिनवादी और हो चि मिन्ह विचारधाराओं को पढ़ने में दिलचस्पी रखते हों.

Image caption आर्थिक चिंतक कार्ल मार्क्स की विचारधारा को लोकप्रिय बनाने के लिए विश्वविद्यालयों ने ये क़दम उठाया है.

समाचार पत्र थान्ह नियन से पाम तान हा ने कहा, “हमने हर साल 120 छात्रों को आकर्षित करने का लक्ष्य बनाया है, लेकिन हमें कभी इतने आवेदन नहीं मिलते. हमने नामांकन के लिए अर्हता भी कम कर दी है.”

बताया जा रहा है कि छात्रों की दिलचस्पी इन विषयों में इसलिए कम हो रही क्योंकि स्नातक के बाद ज़्यादातर छात्र रोज़गार संबंधित पढ़ाई पर ध्यान दे रहे हैं.

बीबीसी के वियतनामी सेवा का फ़ेसबुक पन्ना इस मसले पर आ रहे संदेशों और प्रतिक्रियाओं से भर गया है.

फ़ेसबुक का इस्तेमाल करने वाले हूट गा ने लिखा है, “इन विषयों को पढ़ने के बाद आपके लिए नौकरी हासिल करना मुश्किल ही नहीं होता बल्कि यह असंभव है.”

हर साल वियतनाम में क़रीब आठ लाख युवा कॉलेज-विश्वविद्यालयों में नामांकन लेते हैं, लेकिन इनमें से महज़ तीन लाख छात्र ही परीक्षा पास करते हैं.

वियतनाम के विश्वविद्यालय का अमूमन शिक्षण शुल्क हर साल 250 अमरीकी डॉलर से लेकर 400 अमरीकी डॉलर( क़रीब 15 हज़ार रुपये से 24 हज़ार रुपए) के बीच होता है.

वियतनाम में विश्वविद्यालयों में शिक्षण शुल्क वसूलने की शुरुआत 1990 के दशक से हुई, लेकिन शुरुआती दिनों में शिक्षण शुल्क काफ़ी कम हुआ करते थे.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार