राहा मोहर्रक: ऐवरेस्ट फतह करने वाली पहली सऊदी महिला

  • 18 मई 2013
राहा मोहर्रक ऐवरेस्ट पर चढ़ने वाली सऊदी अरब की सबसे युवा नागरिक भी हैं

सऊदी अरब की एक महिला ने दुनिया की सबसे ऊंची चोटी ऐवरेस्ट पर परचम लहरा कर इतिहास रच दिया है.

पच्चीस वर्षीय राहा मोहर्रक ऐवरेस्ट पर चढ़ने वाली सऊदी अरब की पहली महिला बन गई हैं.

इसके साथ ही वह ऐवरेस्ट की चोटी पर पहुंचने वाली सबसे युवा सऊदी नागरिक भी बन गई हैं.

राहा के चार सदस्यीय पर्वतारोही दल में शामिल कतर और फ़िलीस्तीन के सदस्य भी इस सबसे ऊंची चोटी पर चढ़ने वाले अपने-अपने देश के पहले नागरिक बन गए हैं.

इजाज़त की चुनौती

इस अभियान दल का लक्ष्य नेपाल में शिक्षा से जुड़े कार्यक्रमों के लिए दस लाख डॉलर (5,47,95,000 रुपए) जुटाना था.

राहा मूल रूप से जेद्दा की रहने वाली हैं. स्नातक डिग्री हासिल कर चुकीं राहा अब दुबई में रहती हैं.

उनके अभियान दल के सदस्य कहते हैं कि सऊदी अरब जैसे रूढ़िवादी मुस्लिम देश की निवासी राहा को अपना लक्ष्य हासिल करने के लिए कई बाधाओं का सामना पड़ा.

सऊदी अरब में महिलाओं को काफ़ी सीमित अधिकार मिले हुए हैं.

इस अभियान की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार पर्वतारोहण के लिए मोहर्रक के लिए परिवार की अनुमति हासिल करना, “ख़ुद पहाड़ जितनी ही बड़ी चुनौती” थी.

हालांकि अब मोहर्रक परिवार राहा का समर्थन करता है.

वेबसाइट के अनुसार राहा का कहना है, “मुझे ‘सबसे पहला’ होने से कोई फ़र्क नहीं पड़ता. जब तक कि यह किसी और को दूसरे स्थान पर आने के लिए प्रेरित न करे.”

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार