मालदीव:पूर्व राष्ट्रपति नाशीद ने भारतीय उच्चायोग छोड़ा

  • 24 फरवरी 2013
नाशीद
मोहम्मद नाशीद को पुलिस विद्रोह के बाद सत्ता छोड़नी पड़ी थी

ग्यारह दिनों से भारतीय उच्चायोग में रह रहे मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नाशीद ने उच्चायोग छोड़ दिया है.

उन्होंने गिरफ्तारी से बचने के लिए वहाँ शरण ले रखी थी.

उन्होंने कहा है कि वह अपनी राजनीतिक गतिविधियों को जारी रख पाएंगे. इससे पहले भारत ने संकट के समाधान के लिए एक विशेष दूत भेजा था.

मोहम्मद नाशीद ने आशा जताते हुए कहा है कि सरकार के साथ समझौता अभी भी संभव है.

लेकिन एक प्रवक्ता का कहना है कि अदालत में पेश न हो पाने के कारण उन्हें अभी भी गिरफ्तार किया जा सकता है.

अधिकारों का दुरुपयोग

नाशीद पर आरोप है कि अवैधानिक तरीके से एक वरिष्ठ न्यायाधीश की गिरफ्तारी के आदेश दिया था. हांलाकि उनके समर्थकों का कहना है कि नाशीद पर लगे आरोप राजनीति से प्रेरित हैं.

नाशीद पर आरोप है कि उन्होंने सत्ता में रहते हुए अधिकारों का दुरुपयोग किया.

इस मामले में जब वह अदालत में पेश नहीं हुए तो एक अदालत से उनकी गिरफ़्तारी का आदेश जारी हुआ.

अब चूँकि नाशीद भारतीय दूतावास में मौजूद थे, इसलिए पुलिस बल किसी भी सूरत में वहाँ नहीं जा सका.

नाशीद को पुलिस विद्रोह के बीच पिछले साल फ़रवरी में सत्ता छोड़नी पड़ी थी. उन्होंने उस समय कहा था कि ये विद्रोह पूर्व राष्ट्रपति मॉमून अब्दुल ग़यूम के इशारे पर किया गया था.

संबंधित समाचार