मैं किसी के साथ रोमांस करूं आपको क्या: रणबीर कपूर

  • 17 मई 2013
ये जवानी है दीवानी

रणबीर कपूर और दीपिका पादुकोण की फिल्म ये जवानी है दीवानी 31 मई को रिलीज़ हो रही है. फिल्म के प्रमोशन के दौरान मीडिया से बात करते हुए रणबीर कपूर को कुछ सवाल पसंद नहीं आए और उन्होंने पत्रकारों को समझाइश दे डाली.

रणबीर कपूर, दीपिका पादुकोण

रणबीर को अपने और दीपिका के रिश्तों पर पूछे सवाल पसंद नहीं आए. जब एक पत्रकार ने उनसे पूछा कि "क्या आप दोनों के बीच पूर्व रिश्ते का फर्क इस फिल्म में एक्टिंग करते हुए आप दोनों पर पड़ा."

इस पर रणबीर बोले "मुझसे जब कोई निजी जीवन पर सवाल करता है तो मुझे बिलकुल अच्छा नहीं लगता. आप मेरी फिल्मों के बारे में बात करो. लेकिन निजी सवाल जो पूछता है उसकी इज़्ज़त मेरी नज़र में गिर जाती है."

रणबीर के मुताबिक उन्हें फ़िल्मों में काम करते हुए पांच साल हो गए हैं और इस वजह से अब उनसे उनके प्रोफ़ेशनल जीवन पर आधारित सवाल पूछे जाने चाहिए.

बचना ऐ हसीनो

रणबीर ने आगे कहा, "मैं भी जवान हूं. मेरा अधिकार है रोमांस करना. उससे आप लोगों को क्या. मैं तो आपसे नहीं पूछता कि कल रात को आपने अपनी बीवी के साथ क्या खाया था. या आप डिनर पर अपनी गर्लफ्रेंड के साथ कहां गए थे."

ये जवानी है दीवानी

आमिर, शाहरुख़ और सलमान ख़ान से तुलना के सवाल पर रणबीर ने कहा, "वो तीनों 25 साल से इंडस्ट्री में हू और मैं सिर्फ पांच साल से हूं. मुझे अभी लंबा रास्ता तय करना है. उनके पैर की धूल के बराबर भी मैं नहीं हूं."

रणबीर कपूर

अपने दादा राज कपूर के बैनर 'आर के फ़िल्म्स' को क्या वो पुनर्जीवित करना चाहेंगे. इस पर रणबीर ने कहा, "मुझे गर्व है कि मैं कपूर ख़ानदान का बेटा हूं.

"मुझे गर्व है कि मेरे दादा महान राजकपूर थे. लेकिन मैं ख़ुद अपना बैनर बनाना चाहूंगा. वो फ़िल्में बनाना चाहूंगा जो मुझे पसंद हैं. लेकिन फ़िलहाल सारा ध्यान एक्टिंग पर. मेरे पिताऔर दादा महान हैं. लेकिन मैं ख़ुद अपने बूते अपना मुक़ाम बनाना चाहता हूं."

ये जवानी है दीवानी

रणबीर को सोशल नेटवर्किंग साइट का इस्तेमाल करना बिलकुल पसंद नहीं है. वो कहते हैं कि एक कलाकार को सिर्फ फ़िल्मों के ज़रिए ही अपने चाहने वालों के सामने आना चाहिए.

रणबीर के मुताबिक़, "पुराने ज़माने में दिलीप कुमार और अमिताभ बच्चन जैसे सितारों का करिश्मा इसलिए होता था क्योंकि उनके बारे में एक मिस्ट्री होती थी. आज के कलाकार फिल्मों में, टीवी में, विज्ञापनों में, सोशल नेटवर्किंग साइट हर जगह मौजूद हैं. इसलिए लोग उनसे जल्दी बोर हो जाते हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें. आप हमारे फेसबुक पेज पर भी जा सकते हैं और हमें ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार